Home > औरंगाबाद > सीआरपीएफ के नागरिक सहायता कार्यक्रम के तहत मुर्गी पालन प्रशिक्षण से ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार, स्वावलंबी बनाने के दिशा में बड़ा प्रयास

सीआरपीएफ के नागरिक सहायता कार्यक्रम के तहत मुर्गी पालन प्रशिक्षण से ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार, स्वावलंबी बनाने के दिशा में बड़ा प्रयास

रविकांत

मगध एक्सप्रेस (11 मार्च 19):- औरंगाबाद जिले के देव प्रखंड स्थित सुदूर दक्षिणी इलाके के भालुआहि में नक्सलियों पर लगाम लगाने के उद्देश्य से तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 153 बटालियन डी कंपनी ने गोद लिए गांव भलुआही में आज कैम्प लगाकर ग्रामीणों के बीच मुर्गी के चूजे , मनोरंजन के लिए रेडियो का वितरण किया है ।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि 153 बटालियन के कमांडेंट सौरभ कुमार चौधरी ने कहा कि समाज मे नक्सलवाद का कोई स्थान नही है , सरकार के द्वारा लोगो को रोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य कई योजनाएं चला रही है , कई ऐसी भी योजनाए है जिनका लाभ लेकर आम आदमी स्वरोजगार अपना कर अपना तथा अपने परिवार का भरण पोषण आसानी से कर सकता है और चैन तथा सुख से जीवन निर्वहन कर सकता है । इसी कड़ी में लोगो को स्वरोजगार अपनाने और स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से सीआरपीएफ ने गोद लिए गांव भलुआहि के ग्रामीणों को दो माह का प्रशिक्षण देते हुए मुर्गी पालन और उससे फायदे के बारे में बताया गया ।प्रशिक्षण के बाद आज ग्रामीणों के बीच रोजगार के लिए मुर्गी के चूजे और रेडियो का वितरण ग्रामीणों के बीच किया गया ।

मौके पर कम्पनी कमांडर के जुत्सो , ढिबरा थाना से सूर्यवंश सिंह , जेसीओ हरेंद्र सिंह ,वार्ड सदस्य कृष्णा पासवान , पूर्व मुखिया मंजीत यादव , धनकलिया देवी , पनवा कुंवर , विनोद भुइयां ,रामजन्म भुइयां , धनन्जय कुमार ,धर्म राम के अलावा जवानों के साथ साथ दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे ।

363 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *