Home > कैरियर > स्टेस्टिकल डेटा एनालिसिस फ़ॉर अप्लाईड रिसर्च विषयक दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित

स्टेस्टिकल डेटा एनालिसिस फ़ॉर अप्लाईड रिसर्च विषयक दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित

सौरभ कुमार

मगध एक्सप्रेस(24 फरवरी 19):-
विनोबा भावे विश्वविद्यालय के प्रबंधन विभाग में आज स्टेस्टिकल डेटा एनालिसिस फ़ॉर अप्लाईड रिसर्च विषयक दो दिवसीय राष्ट्रीय क्षमता सम्वर्धन कार्यशाला का उद्घाटन प्रति कुलपति डॉ कुनुल कंदीर और कुलसचिव डॉक्टर बंशीधर रूखैयार ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने कहा की शोध में डाटा एनालिसिस का कार्य काफी महत्वपूर्ण है और इसके लिए कंप्यूटरीकृत डाटा एनालिसिस सॉफ्टवेयर के बारे में जानना जरूरी है। इस आयोजन के लिए उन्होंने प्रबंधन विभाग को धन्यवाद किया। विशिष्ट अतिथि डॉ़ बंशीधर रूखैयार ने कहा कि सिर्फ पीएचडी की डिग्री हासिल करने से नही होगा । पीएचडी करने के लिए सही का सांख्यिकीय ज्ञान का होना भी आवश्यक है । बनारस के केजीएसजी बैंक के मैनेजर डॉ राजीव कुमार ने भी शोध के प्रति अपने विचार व्यक्त किए और एसपीएसएस की उपयोगिता के बारे में बताया।

कार्यशाला के चेयरमैन सह वाणिज्य संकाय के डीन सह यूनिवर्सिटी डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट के डायरेक्टर प्रो.एम.के.सिंह ने दो दिवसीय कार्यशाला में आए प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कहा कि इस दो दिवसीय क्षमता संवर्धन कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य वाणिज्य, प्रबंधन एवं सामाजिक विज्ञान विषयक अनुप्रायोगिक अनुसंधान कार्य में सांख्यिकीय आँकड़ों के विश्लेषण की क्षमता संवर्धन हेतु वाणिज्य व प्रबंधन के रिसर्च स्कॉलर को प्रशिक्षित करना है । इस कार्यशाला के जरिये शोधकर्ता, प्रोफेसर एवं शोध निर्देशकों में शोध के उद्देश्य के अनुसार सांख्यिकीय आंकड़ों के विश्लेषण क्षमता शक्ति का विकास होगा साथ ही डेटा के कम्प्यूटर आधारित विश्लेषण हेतु कार्यशाला के दूसरे दिन कम्प्यूटर आधारित विभिन्न सॉफ्टवेयर की प्रायोगिक जानकारी भी दी जायेगी।

इस कार्यशाला को 6 सत्र में विभाजित किया गया है । प्रथम दिन के तीन सत्रों  के ‘डाटा प्रोसेसिंग व डाटा एनालिसिस’ नामक पहले सत्र मेें रिसोर्स पर्सन सीताराम पांडे ने डाटा एनालिसिस के सॉफ्टवेयर ‘एसपीएसएस’ व एक्सेल की उपयोगिता बताई । डाटा प्रोसेसिंग डाटा एनालिसिस नामक दूसरे सत्र को  रिसोर्स पर्सन डॉक्टर सरोज रंजन ने संपादित किया । डाटा प्रोसेसिंग डाटा एनालिसिस नामक तीसरा सत्र रिसोर्स पर्सन डॉ राजीव कुमार मलिक ने संपादित किया।

द्वितीय दिन तीन तकनीकी सत्रों का आयोजन किया  जाएगा। इनके नाम हैं: डाटा एनालिसिस में SPSS सॉफ्टवेयर के प्रयोग-I, डाटा एनालिसिस में SPSS सॉफ्टवेयर के प्रयोग-II तथा डाटाएनालिसिस में MS-EXCEL व MINITAB के उपयोग को बताया जाएगा।

रिसोर्स पर्सन के रूप में डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट के असिस्टेंट प्रोफेसर सीताराम पांडे, KGSG बैंक वाराणसी के मैनेजर राजीव कुमार मल्लिक, डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट के एसोसिएट प्रोफेसर सरोज रंजन सहित डॉ अहमद अजहर, डॉ पूजा पाठक, डॉ. कनुप्रिया गुप्ता, डॉ संजीव कुमार, आई.एम. बी कुजूर, आशीष आनंद, मीता रानी सिंह, बैंक ऑफ इंडिया हजारीबाग के विपणन प्रमुख डॉ वीरेंद्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

120 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *