Home > औरंगाबाद > उमगा बसंत पंचमी का सतरंगी रूप,तीन दिवसीय मेला में 6 लाख लोगों में किया दर्शन

उमगा बसंत पंचमी का सतरंगी रूप,तीन दिवसीय मेला में 6 लाख लोगों में किया दर्शन

संजीव कुमार-

मगध एक्सप्रेस (12 जनवरी 19):–52 मंदिरों का शक्तिपीठ ऐतिहासिक धार्मिक स्थल उमगा सूर्य मंदिर का भव्य रूप बसन्त पंचमी में देखने को मिलता है।बसंत पंचमी पर लगने वाला तीन दिवसीय उमगा बसंत पंचमी मेला अपने आप मे एक इतिहास समाहित किये हुए है।तीन दिवसीय मेला का शुभारंभ रविवार को धूम धड़ाके के साथ हुआ।सतरंगी इस मेले का अनोखा रूप देखने को मिला।मिना बाजार,होटल,चिनिया बादाम,लोहे लकड़ की दुकान,अनेक प्रकार के झूले,बच्चों को आकर्षित करते एक से एक खिलौने से सजा यह मेला अद्भुत लग रहा था।तीन दिनों में लगभग 6 लाख लोगों में यहां पर दर्शन किये।

प्रकृति का बेहतरीन नमूना उमगा पर्वत का इतिहास गौरवशाली है।भक्तों की भारी भीड़ इसे सतरंगी बनाने में चार चांद लगाती है।लाखों की भीड़ में अपनों को खोजती वो नजर,अनेक प्रकार के सतरंगी धुनों की बांसुरी,वो चाट पकौड़े की दुकान,मनिहारी दुकानों पर सोने और चांदी के रंग में लटके वो लॉकेट और माला, हर तरफ एक बेहतरीन नजारा।जहां लोग इस मेले का लुफ्त उठाते नजर आएं वहीं दूसरी तरफ प्रशासन ने भी अपनी जिम्मेवारी बखूबी निभाई।

 

पुलिस निरीक्षक श्यामकिशोर सिंह,थानाध्यक्ष पंकज कुमार सैनी अपने दल बल के साथ सुरक्षा में तैनात रहे।मेले के ठीकेदार अनिरुद्ध प्रसाद सिंह ने बताया कि,मेले में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त दुरुस्त था।जगह जगह पर कमिटी के वॉलिंटियर्स अपनी ड्यूटी में तैनात रहे।किसी को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो इसके लिए एक हेल्प केंद्र भी खोला गया था।गाड़ियों के लिए पार्किंग की व्यवस्था की गई थी।भारी भीड़ को देखते हुए जगह जगह पर प्रशासन की तैनाती की गई थी।

मेले का आलम यह था कि,हर कोई यहां से कुछ न कुछ पहचान लेकर ही घर जाने को आतुर रहे।कहीं लोग अपनो को खोजने में लगे थे तो कहीं दूर से आये संबंधियों से गले मिलते नजर आए।सूर्य मंदिर से लेकर उमगा पर्वत की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित गौरी शंकर के मंदिर तक श्रद्धालुओं की भारी भीड़ तीन दिनों तक देखने को मिली।हिन्दू,मुस्लिम सभी समुदायों के लोगों ने इस मेले का लुफ्त उठाया।

1,404 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *