Home > औरंगाबाद > लोकसभा चुनाव -दूल्हे का पता नही,शुरू हुई बारात की तैयारी

लोकसभा चुनाव -दूल्हे का पता नही,शुरू हुई बारात की तैयारी

मगध एक्सप्रेस(15 मार्च 19):-लोकसभा 2019 के महासंग्राम का बिगुल फूंक दिया गया है।समस्त तैयारियों के बीच चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है।जिला स्तर से भी सभी जिलानिर्वाची पदाधिकारी द्वारा चुनाव का नोटिफिकेशन जारी करते हुए नामांकन के तारीख की घोषणा भी कर दी गई है।

बिहार में प्रथम चरण में औरंगाबाद ,गया,जमुई और नवादा सीट पर चुनाव होने है जिसकी तिथि 11 मार्च निर्धारित है।
नामांकन शुरू होने में महज 3 दिन शेष है लेकिन अभी तक मतदाताओं को ये पता नहीं है कि हमारा उम्मीदवार कौन होगा और औरंगाबाद संसदीय सीट गठबंधन के चुनावी दौर में किस पार्टी में जाएगी ऐसे लेकर मतदाता ही नही कार्यकर्ता भी उपापोह की स्थिति में है।

अगर ये कहा जाय कि बारात की तैयारी तो शुरू हो चुकी है लेकिन दूल्हा कौन होगा ये तय नही है ।हालांकि लोकसभा के प्रत्याशियों के नाम को लेकर अटकलें तेज है ।मुख्य रूप से चुनावी जंग में शामिल होने वाले एनडीए और महागठबंधन के कार्यकर्ता लगातार सोशल मीडिया पर अपने हिसाब से उम्मीदवारों का नाम तय कर रहे है।

 

 

अगर एनडीए गठबंधन की बात की जाए तो राजनीतिक सूत्रों से प्राप्त हो रही जानकारी के अनुसार औरंगाबाद लोकसभा सीट जदयू के खाते में जाति दिखाई दे रही है।गठबंधन तो दिखाई दे रहा है लेकिन अगर सोशल मीडिया पर चल रहे पोस्ट को देखा जाय यो एनडीए गठबंधन में बीजेपी और जदयू के कार्यकार्यताओं का दिल मिलता नजर नही आ रहा है।

 

 

एक ओर बीजेपी समर्थक जहाँ भाजपा से वर्तमान सांसद सुशील सिंह को लोकसभा का तय उम्मीदवार बता रहे है वहीं जदयू के कार्यकर्ता रफीगंज विधायक अशोक कुमार सिंह की पत्नी डॉ निशा सिंह को औरंगाबाद संसदीय क्षेत्र से जदयू के प्रत्याशी बता रहे है ।

 

इस बाबत मगध एक्सप्रेस ने जब जदयू जिलाध्यक्ष से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभी तक प्रदेश नेतृत्व द्वारा हमलोगों को कोई सूचना नही दी गई है।कार्यकर्ता उत्साह में आकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे है।उम्मीदवार की बात पर उन्होंने बताया कि जो भी उमीदवार एनडीए तय करेगी पूरा संगठन उसके लिए काम करेगा।जिलाध्यक्ष ने कहीं न कहीं ये स्वीकार किया कि इस बार का लोकसभा चुनाव उम्मीदवार बेसिस ना होकर पार्टी बेसिस होगा।

इस बीच औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र में बीजेपी में दो फाड़ की स्थिति भी सोशल मीडिया पर स्पष्ट दिखाई दे रही है।बीजेपी के पूर्व विधायक और मंत्री रहे रामाधार सिंह के समर्थक रामाधार सिंह को लोकसभा का उम्मीदवार बता रहे है।

इस बाबत मगध एक्सप्रेस ने जब बीजेपी के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार से बात की तो मनोज कुमार ने कहा कि 16 मार्च को घोषणा किये जाने की सूचना है।चुनाव को लेकर तैयारी पूरी है।जिलाध्यक्ष ने उम्मीदवार के नाम पर बताया कि अभी जब तक घोषणा नही होता तब तक कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी ।बीजेपी में दो फाड़ और बीजेपी के कुछ कार्यकर्ताओ द्वारा सोशल मीडिया पर बीजेपी नेता और पूर्व सहकारिता मंत्री रामाधार सिंह को उम्मीदवार बताये जाने की बात पर बीजेपी जिलाध्यक्ष ने कहा कि किसी के कहने से क्या होता है ।बीजेपी के वर्तमान सांसद द्वारा जदयू से चुनाव लड़ने की संभावना भी जताई जा रही है के सवाल पर जिलाध्यक्ष ने कहा कि जो भी उम्मीदवार होगा एनडीए से होगा और हम कार्यकर्ता है शीर्ष नेतृत्व से ,जो आदेश आएगा उसका अक्षरसः पालन किया जाएगा।

 

जिलाध्यक्ष ने औरंगाबाद लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद सुशील कुमार सिंह का टिकट कन्फर्म होने की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि जब तक घोषणा नही हो जाता तब तक ये कहना मुश्किल होगा कि सीट किसके खाते में जाएगी।अब अगर महागठबंधन की बात करें तो औरंगाबाद लोकसभा क्षेत्र से सीट कांग्रेस के खाते में जाना तय माना जा रहा है लेकिन दूल्हा यानी उम्मीदवार कौन होगा इसे लेकर महागठबंधन में भी संसय बरकरार है।हालांकि कांग्रेस से उम्मीदवार के रूप में औरंगाबाद संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी निखिल कुमार का नाम लगभग फाइनल माना जा रहा है।

इन सभी अटकलों के बीच प्रथम चरण में 11 अप्रैल को होने वाले चुनाव को लेकर नामांकन शुरू होने के तीन दिन पहले तक किसी भी प्रमुख दलों द्वारा प्रत्याशी के नाम की घोषणा ना होना ऐसा लगता है कि लोकसभा चुनाव में मतदाताओं पर प्रत्याशी थोपे जा रहे है ।

1,971 total views, 9 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *