Home > औरंगाबाद > सीआरपीएफ 153 बटालियन का स्थापना दिवस,डीआईजी ने कहा,देश की सुरक्षा में सीआरपीएफ ने निभाई है अहम भूमिका

सीआरपीएफ 153 बटालियन का स्थापना दिवस,डीआईजी ने कहा,देश की सुरक्षा में सीआरपीएफ ने निभाई है अहम भूमिका

संजीव कुमार

मगध एक्सप्रेस(4 फरवरी 19):-जोश और उमंग से भरपूर सीआरपीएफ बटालियन-153 ने सोमवार को 16वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया जिसकी अध्यक्षता 153 के कमाण्डेन्ट सौरभ कुमार चौधरी ने की।

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि पटना रेंज के सीआरपीएफ डीआईजी के.सज्जाउद्दीन,एसपी औरंगाबाद डॉक्टर सत्यप्रकाश,कोबरा कमाण्डेन्ट लमखोखम लाउजन,159 बटालियन के कमाण्डेन्ट निशित कुमार,47(कोइलवर)बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी कमाण्डेन्ट बिनोद रावत,एएसपी अभियान राजेश कुमार ने संयुक्त रूप से फीता काटकर किया।

इस दौरान डीआईजी के सज्जाउद्दीन ने सीआरपीएफ को 16वें स्थापना दिवस की शुभकामना दी और जवानों को हौसला अफजाई करते हुए कहा कि,सीआरपीएफ देश के प्रशासनिक विभाग का अभिन्न अंग है और देश की सुरक्षा में अहम भूमिका निभाने का काम किया है।किसी भी परिस्थिति में सीआरपीएफ हमेशा तैयार रहते हैं।

 

उन्होंने कहा कि,आतंकवाद और नक्सलवाद से निपटने में हमारी पूरी टीम पूरी तरह से सक्षम है और अपने दायित्व को ईमानदारी पूर्वक निभाता है।सुरक्षा के साथ साथ सामाजिक सरोकार में भी सीआरपीएफ की भूमिका सराहनीय है।153 के कमाण्डेन्ट सौरभ कुमार चौधरी ने कहा कि,अदम्य साहस और कर्त्तव्यनिष्ठा के लिए सीआरपीएफ की पूरी टीम धन्यवाद के पात्र हैं।सीआरपीएफ 153 के गठन 2003 में गुड़गांव में हुआ था।वहां पर सीआरपीएफ ने पूरी ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य का पालन किया।उसके बाद जम्मू कश्मीर में सफलता पूर्वक चुनाव सम्पन्न करवाया।

पिछले वर्ष मोतिहारी से औरंगाबाद में 153 बटालियन को लाया गया जिसका मुख्य उद्देश्य इस जिले को नक्सलमुक्त करना था।उन्होंने कहा कि,सीआरपीएफ हमेशा जिला पुलिस के साथ समन्वय बनाकर किसी कार्य को करती है।सुरक्षा के साथ सरकारी योजनाओं को सुदूरवर्ती नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचाने का काम करती है ताकि नक्सलप्रभावित क्षेत्र के लोगों को लाभ मिल सके और वे समाज की मुख्यधारा से जुड़ सकें।उन्होंने कहा कि,सीआरपीएफ ने केंद्र सरकार द्वारा संचालित नागरिक सहायता कार्यक्रम के जरिये नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के युवक युवतियों को अनेक प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम के जरिये स्वावलम्बी बनाने का कार्य किया गया है और आगे भी इस तरह के कार्यक्रम जारी रहेगा ताकि उस क्षेत्र में भी विकास हो सके।नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ने के लिए विकास बहुत जरूरी है।कमाण्डेन्ट सौरभ कुमार चौधरी ने आये हुए अतिथियों को अशोक स्तंभ का स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

इस दौरान सीआरपीएफ के द्वारा पुलिस केंद्र औरंगाबाद में अनेक प्रकार के खेल आयोजित किये गए जिसमे जवानों ने भाग लेकर इसका आनंद उठाया।स्थापना दिवस पर आए सभी बटालियन ने लजीज व्यंजनों के साथ स्टॉल लगाया जिसका लुफ्त आये हुए पदाधिकारियों व जवानों ने उठाया।कार्यक्रम का संचालन डिप्टी कमाण्डेन्ट नरेंद्र कुमार ने की।

इस अवसर पर सहायक कमाण्डेन्ट बी श्रवण कुमार,संजय कुमार सिंह,सुभाष चांद आदि सहित सीआरपीएफ के जवान उपस्थित रहे।

699 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *