Home > गया > राज्य में अब एप के माध्यम से किसानों को आसानी से मिलेगा बीज,बीज कालाबाजारी और बिचौलियों के चंगुल से किसानों को मिलेगी मुक्ति- कृषि मंत्री

राज्य में अब एप के माध्यम से किसानों को आसानी से मिलेगा बीज,बीज कालाबाजारी और बिचौलियों के चंगुल से किसानों को मिलेगी मुक्ति- कृषि मंत्री

इमामगंज से प्रभात कुमार सोनी की रिपोर्ट

मगध एक्सप्रेस [10 जनवरी 19 ];-बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार कहा कि बुधवार को इमामगंज प्रखंड के कोचीया गांव में बीजेपी के जिला अध्यक्ष धनराज शर्मा के पिता के निधन के बाद आयोजित शोकसभा से लौटने के बाद उन्होंने संजय गांधी इंटर कॉलेज में पत्रकारों के साथ प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि । अब बिहार राज्य बीज निगम और अन्य बीज कंपनियों के माध्यम से किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज किसानों को समय पर मिलेगा। जिससे लेकर बिहार सरकार अब एप से पारदर्शी होगी पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन बीज वितरण व मॉनीटनिंग एप के माध्यम से राज्य में बीज उत्पादन, प्रसंस्करण, वितरण और विपणन आसानी से होगा। पूरी प्रक्रिया पारदर्शी होगी। आसानी से मॉनिटरिंग होगी। इस एप में किसानों को पहचान आधार नंबर के माध्यम से बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन द्वारा किया जाएगा। बिना किसी परेशानी और बिना किसी अभिलेख के किसानों को ऑन स्पॉट बीज उपलब्ध करा लेगें ।

 

उन्होंने कहा सिंचाई सुविधा बहाल करने के लिए नहर, पइन, डैम, आहार, पोखर की मरम्मत करायी जा रही है।  बिहार के 38 में से 24 जिलों में 280 प्रखण्ड सुखाड़ की चपेट हैं। इनमें गया जिले के इमामगंज, डुमरिया, बांकेबजार भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सूखे की मार झेल रहे 1,61,743 किसानों से आवेदन लेकर करीब 73,690 किसानों को 57 करोड़ रुपये की कृषि सहायता राशि खाते में भेज दी गयी है। पहाड़ी क्षेत्र के आठ जिलों के किसानों को कम पूंजी व कम पानी से सिंचाई कर बहेतर फसल उपजाने की ट्रेनिंग दिलायी जायेगी। कृषि यंत्र मेला अनुमंडल स्तर पर लगाया जाएगा। पंचायतों में बने कृषि भवन में भी सारी सुविधाएं मुहैया करायी जाएंगी। जिस पंचायत में अपना भवन नहीं है, उसमें भाड़े पर भवन लेकर कृषि कार्यालय खोला जायेगा।

 

उन्होंने कहा कि कृषि रोड मैप बनाकर जल संचय करने की भी तैयारी चल रही है। बिहार में 44 लाख 84 हजार 430 आवेदन आया है। इनमें से एक लाख 54 हजार, 372 किसानों का निबंधन भी हो चुका है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे सिंचाई की सुविधा के लिए डैम आहर पोखकर कहां-कहां बनाये जा सकते हैं, इसकी सूची तैयार कर देने का निर्देश दिया है। मौके पर कृष्णदेव प्रसाद उर्फ कारू सिंह, गंगाधर पाठक, पंकज सिंह, गजेंद्र दास, प्रमोद लाल, प्रदीप सिंह, मनोज शर्मा, विनोद सिंह , कारू सिंह, महेन्द्र गिरी सहित अन्य लोगो थे।

405 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *