Home > संपादकीय > जीवन की सबसे बड़ी समस्या है स्वयं से परिचित नहीं होना

जीवन की सबसे बड़ी समस्या है स्वयं से परिचित नहीं होना

इस दुनिया में ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो काफी लंबी उम्र जीते हैं, लेकिन वे स्वयं को नहीं जान पाते। स्वयं को जानना थोड़ा कठिन काम है, क्योंकि यह साधना पर केंद्रित होता है। पर, जब व्यक्ति स्वयं से परिचित होता है तब उसके जीवन का अर्थ मूल अर्थों के रूप में आरंभ होता है। तभी उसके संपूर्ण तथा अर्थपूर्ण जीवन का अंकुरण होता है। यह निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि वह व्यक्ति वास्तव में अपना सफल जीवन रहा है। देखा जाए तो स्वयं से परिचित हुए बिना जो जीवन गुजरता है वह जीवन की सबसे बड़ी समस्या रही है।स्वयं से परिचित होना इसलिए भी जरूरी है, ताकि हमारे व्यक्तित्व का पूरा विकास हो सके। साथ ही हम अपने जीवन में ऐसे सकारात्मक शक्ति का प्रयोग करें जो मानवता के लिए हितकर हो।

स्वयं को पाने के लिए पहले स्वयं के बारे में जानिए। स्वयं को असली रूप में पाना एक अद्भुत शिक्षाप्रद अनुभव है। आप एक बार के लिए इससे, स्वाधीन बनेंगे और स्वयं के लिए काम करेंगे। इस भावना को शब्दों में व्यक्त करना कठिन है, पर जब आप इस बात से अनिभिज्ञ हों कि आप कौन हैं, तो इसकी अनदेखी करना मुश्किल है। स्वयं को पाना आसान नहीं है, पर यह प्रयास करने योग्य जरूर है।

111 total views, 6 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *